BLOGGER TEMPLATES AND TWITTER BACKGROUNDS

Thursday, September 10, 2009


तूफ़ान

हम भी थे इश्क की भीड़ में खोये हुए कभी,
आज हमनें तन्हाई में जीना सीख लिया है !


किसी भी राह पर चलने से अभी कतराते नहीं,
तूफानों से हंसके गुज़रना हमनें सीख लिया है !

लफ़्जों का इस्तेमाल करना छोड़ दिया हमनें,
आंखों से दर्द बयान करना सीख लिया है !

वफ़ा का ज़िक्र करना छोड़ दिया हमनें,
तुमनें की जो बेवफ़ाई उसी राह पर चलना सीख लिया है !

रास आया तुम्हें हमारा खुशी से जीना,
इसलिए घुट घुट कर मरना हमनें सीख लिया है !

14 comments:

raj said...

आंखों से दर्द बयान करना सिख लिया है !
kyun na ho dard aankho se bayan....ankhe akhir dil ki zubaa hoti hai......

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

बहुत करारा जवाब है, उर्मि जी।
शेर बहुत बढ़िया हैं,
छंद भी धीरे-धीरे दस्तक
देने ही लगेंगे।
बहुत बधाई!

ज्ञानदत्त पाण्डेय | Gyandutt Pandey said...

तनहाई में जीना तो बॉटमलाइन है। जिसने वह सीख लिया तो खोने को क्या बचा!
सुन्दर!

चंदन कुमार झा said...

बहुत सुन्दर बबली जी । शुभकामनायें ।

M VERMA said...

रास न आया तुम्हें हमारा खुशी से जीना,
इसलिए घुट घुट कर मरना हमनें सिख लिया है !!
=======
इश्क मे ऐसा ही होता है पर जिसे हम मरना समझते है वही तो जिन्दगी है

संजय भास्कर said...

क्या बात है बहुत खुब\
बेहतरीन ... बेहतरीन.

http://sanjaybhaskar.blogspot.com

SACCHAI said...

waw...! kya baat hai

" raas na aaya tumhe hamara khusi se jina ,isliye ghut ghut ker marna humne sikh liya "

" bahut bahut badhai aapki kalam ko aur aapko ."

----- eksacchai {AAWAZ }

http://eksacchai.blogspot.com

http://hindimasti4u.blogspot.com

Nirmla Kapila said...

बहुत बडिया बबली जी जितनी जल्दी जीना सीख लें अच्छा है दर्द कम हो जाता हओ बधाई

महफूज़ अली said...

हम भी थे इश्क की भीड़ में खोये हुए कभी,
आज हमनें तन्हाई में जीना सीख लिया है !


haaan! aise mein tanhai mein jeene ki aadat pad hi jaati hai....

इसलिए घुट घुट कर मरना हमनें सीख लिया है !!

aisa ho hi jaatahai

शरद कोकास said...

बबली पहले चार शेर तो आशा वादी हैं लेकिन अंतिम निराशावादी उसका स्वर बदलो । और लव्ज़ नही लफ़्ज़ सही शब्द है । बाकि बढ़िया ।

Abhilash Pillai said...

hey! where do you get all these pictures.. they are really good...

Suman said...

रास न आया तुम्हें हमारा खुशी से जीना,
इसलिए घुट घुट कर मरना हमनें सीख लिया है !!nice

SHABBIR said...

didi mujhe add karo.mai bhi blog banaya hu, mai hendicap ladka hu, apka blog dekh muje achha laga ap mera dost banogi plz reply karna my ID shabbir_39407@yahoo.com

my blog www.shabbir-ji.blogspot.com

SHABBIR said...

didi mujhe add karo.mai bhi blog banaya hu, mai hendicap ladka hu, apka blog dekh muje achha laga ap mera dost banogi plz reply karna my ID shabbir_39407@yahoo.com

my blog www.shabbir-ji.blogspot.com