BLOGGER TEMPLATES AND TWITTER BACKGROUNDS

Monday, December 12, 2011

तूफ़ान

हर ख्वाइश पूरी हो जिसकी ऐसा कोई इंसान नहीं,
हर कदम पे हार जाये कुछ भी हो वह तूफ़ान नहीं !

जीतना है अगर तो हारने पर हिम्मत टूटे,
जीवन में किसी मुकाम पर हौसला छूटे !

वक़्त भले ही कम हो पर जाना है हमको दूर,
मुश्क़िलों का कर सामना मंज़िल पाना मंज़ूर !

कितना भी तूफ़ान जाये पर हौसला कम हो,
कदम लड़खड़ाये भले पर गिरने का गम हो !

34 comments:

संजय भास्कर said...

जीतना है अगर तो हारने पर हिम्मत न टूटे,
जीवन में किसी मुकाम पर हौसला न छूटे !
.....वाह क्या बात है खूबसूरत रचना मधुर गजल बहुत दिनों बाद पढने को मिली ...बबली जी

नीरज कुमार said...

हर ख्वाइश पूरी हो जिसकी ऐसा कोई इंसान नहीं...
जीवन में किसी मुकाम पर हौसला न छूटे!

क्या बात है... बहुत खूब कहा आपने... सबक याद रखना चाहिए हमे...

अनुपमा पाठक said...

'जीवन में किसी मुकाम पर हौसला न छूटे!'
सुन्दर!
हौसला बना रहे!
लेखनी चलती रहे...
शुभकामनाएं!

Maheshwari kaneri said...

सही कहा .
.जीतना है अगर तो हारने पर हिम्मत न टूटे,
जीवन में किसी मुकाम पर हौसला न छूटे !...बहुत खुबसूरत रचना..बबली जी..

vidya said...

अच्छी रचना बबली जी...
हौसला ना टूटे....
शुभकामनाएं,

Amrita Tanmay said...

हौसला न छूटे तूफान तो यूँ ही चला जाता है.

ऋता शेखर 'मधु' said...

हौसला न टूटे...बहुत अच्छा संदेश दिया है,बधाई|

Vijai Mathur said...

जोश भरा संदेश और प्रेरक कविता है।

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

सार्थक सन्देश देती रचना ..हौसला बना रहना चाहिए

रविकर said...

अति सुन्दर |
शुभकामनाएं ||

dcgpthravikar.blogspot.com

Kunwar Kusumesh said...

quite motivating poem.

Pummy said...

हर ख्वाइश पूरी हो जिसकी ऐसा कोई इंसान नहीं...
जीवन में किसी मुकाम पर हौसला न छूटे!.....bahot hi achcha......stay positive is d mantra to move on....

Sumit Madan said...

bahut achi hai :)

डॉ. नूतन डिमरी गैरोला- नीति said...

बहुत सही.. जीने के हौसले को बढाती रचना अच्छी लगी..

veerubhai said...

जीतना है अगर तो हारने पर हिम्मत न टूटे,
जीवन में किसी मुकाम पर हौसला न छूटे !
सकारात्मक भाव के जोशपूर्ण रचना बधाई .

प्रेम सरोवर said...

आपका पोस्ट रोचक लगा । मेरे नए पोस्ट नकेनवाद पर आपका बेसब्री से इंतजार रहेगा । धन्यवाद ।

सुरेन्द्र "मुल्हिद" said...

खुदा करे आपको पढने का जूनून कभी कम ना हो...

अरुण कुमार निगम (mitanigoth2.blogspot.com) said...

बहुत ही बढ़िया, वाह !!!!

amrendra "amar" said...

सुन्दर प्रस्तुति के लिए बहुत बहुत आभार.

veerubhai said...

जीवन में किसी मुकाम पर हौसला न छूटे !अतिरिक्त जोश और ओज की कविता .भरोसे और विश्वास की कविता ,जीवन में आस की कविता .खुद पे विश्वास की कविता .बधाई .

Dr.Ashutosh Mishra "Ashu" said...

जीतना है अगर तो हारने पर हिम्मत न टूटे,
जीवन में किसी मुकाम पर हौसला न छूटे !
babli jee main ise ghazal nahi kahunga..rachna sundar hai...ghazal ka bhram karati hai..par radif kafia badal gaye hain. behtarin sadar bahdhayee

चला बिहारी ब्लॉगर बनने said...

एक प्रेरक रचना!!

Naveen Mani Tripathi said...

bahut sundar gazal .... apka blog achha laga . .. meri azalo ko dekhne ke liye aapka amantran hai ..

Rakesh Kumar said...

ओह! उर्मी जी
बहुत ही भावपूर्ण और प्रेरक लगी आपकी यह प्रस्तुति.

प्रोफाइल में बबली से उर्मी हो जाना और
नए चित्र में लाल कोट का सफ़ेद हो
जाना भी अच्छा लगा.

अब तो लगता है आपके लिखने का अंदाज भी
बदल जाने वाला है क्या.

Sunil Kumar said...

हौसला न टूटे.यही असली इन्सान की पहचान होती हैं

S.M.HABIB (Sanjay Mishra 'Habib') said...

हर ख्वाइश पूरी हो जिसकी ऐसा कोई इंसान नहीं,
हर कदम पे हार जाये कुछ भी हो वह तूफ़ान नहीं !

बहुत खूब...
सादर...

Rajput said...

जीतना है अगर तो हारने पर हिम्मत न टूटे,
जीवन में किसी मुकाम पर हौसला न छूटे
अच्छी रचना बबली जी,लेखनी का हौसला न छूटे .

जयकृष्ण राय तुषार said...

बहुत ही सुन्दर रचना बधाई और शुभकामनायें |

मनीष सिंह निराला said...

वाह ...! बहुत सुन्दर ...!

प्रेम सरोवर said...

आपका पोस्ट पर आना बहुत ही अच्छा लगा मेरे नए पोस्ट "खुशवंत सिंह" पर आपका इंतजार रहेगा । धन्यवाद ।

dinesh aggarwal said...

आशावादी एवं हौसला बढ़ाने रचना निसंदेह ही
सराहनीय है।

नीरज गोस्वामी said...

Bahut Khoob

Neeraj

Rahul Bhatia said...

बहुत खुबसूरत रचना! Merry Christmas and a Happy New Year!

सुरेन्द्र सिंह " झंझट " said...

नव वर्ष मंगलमय हो ..
बहुत बहुत हार्दिक शुभकामनायें