BLOGGER TEMPLATES AND TWITTER BACKGROUNDS

Sunday, August 1, 2010



मित्रता दिवस

यादों का ये सिलसिला बनाये रखना,
दोस्त कहा है तो दोस्ती बनाये रखना,
चाहे कितने ही दूर क्यूँ रहे तुमसे,
पर ये दोस्ती हमेशा बनाये रखना !

दोस्ती नाम है ज़िन्दगी का,
ये रिश्ता है अटूट विश्वास का,
इससे बढ़कर कोई नाता नहीं,
इसे आखरी दम तक छोड़ेंगे नहीं !

नज़र तुम्हारी, नज़र हमारी,
नज़र ने दिल की नज़र उतारी,
नज़र ने देखा नज़र को ऐसे,
नज़र दोस्ती को
लगे न हमारी !

दोस्ती का पहला पैगाम तेरे नाम,
ज़िन्दगी की आखरी सांस तेरे नाम,
रहे सलामत ये दोस्ती अपनी,
इसे सलामत रखना तेरा काम !






16 comments:

सुरेन्द्र "मुल्हिद" said...

kushkismat hain hum ki aapke dost hain...happy frndshp day!

आशीष मिश्रा said...

very nice
sarovar.tk

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

मित्रता-दिवस पर सुन्दर पैगाम दिया है आपने!
--
बहुत-बहुत बधाई!

nilesh mathur said...

बहुत सुन्दर, शुभकामना !

प्रकाश गोविन्द said...

यादों का ये सिलसिला बनाये रखना,
दोस्त कहा है तो दोस्ती बनाये रखना,
-
-
मित्रता दिवस पर सुन्दर पैगाम
शुभ कामनाएं

Apanatva said...

Aameen.

Happy friendshipday .

Mukesh Kumar Sinha said...

bahut khubsurat........dosti jindabad.......

M VERMA said...

चाहे कितने ही दूर क्यूँ न रहे तुमसे,
पर ये दोस्ती हमेशा बनाये रखना !
दोस्ती में दूरी मायने नहीं रखती
सुन्दर रचना

राकेश कौशिक said...

"रहे सलामत ये दोस्ती अपनी,
इसे सलामत रखना हमारा काम"

अच्छे भाव

मनोज कुमार said...

वाह!
क्या नज़राना है!

boletobindas said...

फ्रेंडशिप डे पर खूबसूरत कविता। आपको भी बधाई। मुझे दोस्त हमेशा याद रहते हैं। पर अब दुनिया में दूर दूर तक फैले चुके हैं लोग तो एक दिन तो याद रखें।

विजयप्रकाश said...

वाह...बढ़िया.खास तौर से "नजर ने नजर को देखा" वाला बंद बहुत अच्छा लगा.आपको मित्रता दिवस की शुभकामनायें

Akanksha~आकांक्षा said...

मित्रता दिवस पर सुन्दर भाव...बधाई.

KK Yadav said...

मित्रता दिवस पर सुन्दर पैगाम...बधाई.
कभी 'डाकिया डाक लाया' पर भी आयें...

Akshita (Pakhi) said...

Friendship Day पर तो आपने बहुत सुन्दर लिखा...बधाई.

Bikramjit Singh Mann said...

I am sure they will keep it SALAMAT... my hindi is bad hence replying in english.. beautiful poem ..

I ahve not been visitng ur blog for ages now sorry abvout that...