BLOGGER TEMPLATES AND TWITTER BACKGROUNDS

Monday, August 23, 2010



रक्षाबंधन

राखी एक पवित्र बंधन है,
बहन के लिए ये ख़ास दिन है !

हर धागे में है भरपूर प्यार,
भैया तुम्हीं हो जिससे खिलता है संसार !

स्नेह ममता से भरा है प्यार तुम्हारा,
भैया तुम्हीं हो मेरे जीने का सहारा !

बचपन की वो मीठी यादें,
लड़ते झगड़ते फिर गले मिलते !

भैया तेरा साया रहे मुझ पर सदा,
इश्वर से करती हूँ ये दुआ हमेशा !

हम भले ही दूर रहें तुमसे कितना,
पर हमारा प्यार कभी भूलना !

कामयाबी तुम्हारे कदम चूमे,
तुम्हें ज़िन्दगी में सारी खुशियाँ मिले !

भाई बहन का प्यार यूँ ही बरक़रार रहे,
हर साल ये प्यार यूँ बढ़ता ही चले !


24 comments:

Nisha said...

Rakshabandhan ki dheron shubhkaamnaaye!!

Deepak Shukla said...

Hi..

Tere jaisi har bhai ko...
Ek bahan ka pyaar mile...
jeevan mahke sab ka hi..
jeevan main sada bahar mile...

Meri Eshwar se vinti hai...
ab to barambaar...
Dhan, vaibhav, sukh aur smridhi...
sang Khushiyan milen hazaar....

Deepak...

संगीता पुरी said...

भाई बहन का प्यार यूँ ही बरक़रार रहे,
हर साल ये प्यार यूँ बढ़ता ही चले !

बहुत खूब .. रक्षाबंधन की बधाई और शुभकामनाएं !!

विजयप्रकाश said...

रक्षाबंधन के इस पावन पर्व पर आपकी भाव-पूर्ण कविता ने मन को छू लिया.

Mukesh Kumar Sinha said...

Rakshhabandhan ki bahut bahut subhkamnayen.........:)

ek behtareen kavita......

चला बिहारी ब्लॉगर बनने said...

जेतना सुंदर भाबना,ओतने सुंदर अभिब्यक्ति!!

Sulagna Mukherjee Basu said...

Thanks for visiting my space..I've been going thru' all ur blogs..U have so many talents.I'm amazed after reading ur poems..Keep it up !!

Thanks
Sulagna
http://e-senseofspicenfragrance-sulagna.blogspot.com/

मनोज कुमार said...

बधाई और शुभकामनाएं !!

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

आपने रक्षाबन्धन के पावन पर्व पर बहुत ही सुन्दर
रचना लिखी है!
--
बधाई!

परमजीत सिँह बाली said...

बहुत भावपूर्ण रचना। बधाई।

हास्यफुहार said...

बहुत अच्छी प्रस्तुति।
:: हंसना स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है।

शिवम् मिश्रा said...

रक्षाबंधन की बधाई और शुभकामनाएं !!

क्रिएटिव मंच-Creative Manch said...

अत्यंत भाव-पूर्ण कविता
बहुत पसंद आई
-
-
ढेर सारी शुभकामनाएं

Bikramjit said...

nice poem for the occasion and all those wishes
what else can one brother ask for ... beautiful

संजय भास्कर said...

रक्षाबंधन के इस पावन पर्व पर आपकी भाव-पूर्ण कविता ने मन को छू लिया.

विजय प्रकाश सिंह said...

शुभकामनाएं !!

A said...

Extremely well written.

I wish I had read it earlier, I would have added a link in Rakshabandhan post.

अशोक बजाज said...

शुभकामनाएं...

सत्यप्रकाश पाण्डेय said...

भावपूर्ण और खूबसूरत प्रस्तुति.

P S Bhakuni (Paanu) said...

अत्यंत भाव-पूर्ण कविता....ढेर सारी शुभकामनाएं.

कविता रावत said...

भाई बहन का प्यार यूँ ही बरक़रार रहे,
हर साल ये प्यार यूँ बढ़ता ही चले
...रक्षाबंधन की बधाई और शुभकामनाएं !!

Dr. Ashok palmist blog said...

रक्षाबन्धन पर भाई-बहन के प्यार को व्यक्त करती अति सुन्दर रचना। शुभकामनायेँ! -: VISIT MY BLOG :- तुम ऐसे मेँ क्यूँ रुठ जाती हो?..........कविता पर अपने विचार व्यक्त करने के लिए आप सादर आमंत्रित हैँ। आप इस लिँक पर क्लिक कर सकते हैँ।

सुनील गज्जाणी said...

urmi mem,
namaskar !
mem , ek resham ka dhaga kitne majboot rishte bana deta hai , bas ose samjne wala aur nibhane wala chahiye ,
sunder hai aap ki abhivyakti .
sadhuwad .
saadar

vibha rani Shrivastava said...

मंगलवार 20/08/2013 को आपकी यह बेहतरीन पोस्ट http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर लिंक की जा रही हैं ....
आपके सुझावों का स्वागत है ....
धन्यवाद !!