BLOGGER TEMPLATES AND TWITTER BACKGROUNDS

Friday, May 20, 2011


समय

समय कब है ठहरा किसीके लिए?
ये रुकता नहीं आदमी के लिए !

समय की शिला पर कई चित्र आए,
किसीने बनाए किसीने मिटाए,
किसीने लिखी आँसुओं से कहानी,
कई आँख रोई भी, बरसा है पानी !

चुनौती है हर पारखी के लिए !

निशा ने सुलाया, उषा ने जगाया,
समय पर है हर काम करना सिखाया !
ये सुख-दुःख तो सिक्के के पहलू हैं दो,
दुआ करती हूँ हर हाल में सब खुश रहो !

सदा पाठ शिक्षक ने हमको पढ़ाया,
बड़ा मुर्ख जिसने समय को गँवाया !
यहाँ जिसने कीमत समय की है समझी,
समय ने भी उसकी सदा लाज राखी !

समय को संवारो सदा के लिए !

24 comments:

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

भाव भी अच्छे और रचना भी अच्छी!

Kunwar Kusumesh said...

क्या बात है,उर्मी जी.वाह वाह.
समय पर इतनी जानदार और प्रेरक कविता .बहुत बढ़िया.

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

बहुत सुन्दर भावों से सजी समय के महत्त्व को कहती अच्छी रचना

यशवन्त माथुर (Yashwant Mathur) said...

सच कहा आपने समय कभी नहीं रुकता.

सादर

Rakesh Kumar said...

निशा ने सुलाया, उषा ने जगाया,
समय पर है हर काम करना सिखाया !
ये सुख-दुःख तो सिक्के के पहलू हैं दो,
दुआ करती हूँ हर हाल में सब खुश रहो !

आपके निश्छल निर्मल हार्दिक उद्गारों को मेरा सादर नमन है. परमात्मा आपकी दुआ कबूल करे.मेरी भी यह दुआ है कि आप सैदेव "सत्यम शिवम सुन्दरम"
भावों का पोषण करते हुए यूँ ही सुन्दर सुन्दर रचना लिखतीं रहें और जीवन में सदा प्रसन्न और आनंदित रहें.
सुन्दर प्रस्तुति के लिए बहुत बहुत आभार.

चला बिहारी ब्लॉगर बनने said...

जिसने समय का मोल नहीं समझा, समय की एक ठोकर से चूर चूर हो गया!!

संजय भास्कर said...

अद्भुत अभिव्यक्ति है| इतनी खूबसूरत रचना की लिए धन्यवाद|

संजय भास्कर said...

सुन्दर शेली सुन्दर भावनाए क्या कहे शब्द नही है तारीफ के लिए ..

मनोज कुमार said...

सही संदेश है। समय को संवारो।

मदन शर्मा said...

आपकी कविता बहुत कुछ सिखा गयी ....
सुन्दर रचना......
सुन्दर प्रस्तुति के लिए बहुत बहुत आभार!!

नश्तरे एहसास ......... said...

बहुत ही सुंदर रचना......बहुत पसंद आई:):)

G.N.SHAW said...

समय बहुत बलवान होता है ! बहुत ही बढ़िया

A said...

I am speechless. So well written.

डॉ॰ मोनिका शर्मा said...

समय को संवारो सदा के लिए !

बहुत सुंदर.....

M VERMA said...

समय को रेखांकित करती सुन्दर रचना

mahendra srivastava said...

भावपूर्ण सुंदर रचना।

संध्या शर्मा said...

समय को संवारो सदा के लिए !

गया वक़्त कभी वापस नहीं आता, अच्छा सन्देश है आपकी रचना में...बहुत सुंदर रचना .....

SACCHAI said...

samay per bahut hi acchi rachana ..badhai

Amrita Tanmay said...

सच ही कहा है...अच्छी रचना

सुरेन्द्र सिंह " झंझट " said...

समय तो शाश्वत गतिमान है...

सार्थक सन्देश देती सुन्दर रचना...

Rachana said...

सदा पाठ शिक्षक ने हमको पढ़ाया,
बड़ा मुर्ख जिसने समय को गँवाया !
यहाँ जिसने कीमत समय की है समझी,
समय ने भी उसकी सदा लाज राखी
achchhi rachna
rachana

Jyoti Mishra said...

very beautiful depiction !!
i agree
time waits for noone... it goes on and on

Rakesh Kumar said...

Thanks for visiting my blog and putting your nice comment there.

Would you be kind enough to express your opinion about
'Ram-Mandir' as requested in my post.I would feel obliged.

Rajesh Kumari said...

samay ki keemat ko smaran karati sunder rachna.